वर्ल्ड कप 2023 से पहले मैच फिक्सिंग पर ICC का खुलासा

0
65

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने मैच फिक्सिंग के संदर्भ में एक बड़ा खुलासा किया है। कई खिलाड़ियों, अधिकारियों, और कुछ भारतीय टीम के मालिकों को 2021 इमिरेट्स टी-10 लीग के दौरान भ्रष्टाचारिक गतिविधियों में शामिल होने के लिए मैच फिक्सिंग के गंभीर आरोपों का सामना करना पड़ा है।इचछ कुल 8 लोगों परमैच फिक्सिंग करने के आरोप लगाए गए हैं, जिसमें दो भारतीय सह-मालिक पराग संघवी और कृष्णा कुमार भी शामिल हैं। ये दोनों पुणे डेविल्स टीम के सह-मालिक हैं। तीसरा जो भ्रष्टाचारिक गतिविधियों में शामिल है, वह है बैटिंग कोच सन्नी ढिल्लों।इसके अलावा, पूर्व टेस्ट बैट्समैन नासिर हुसैन, जो बांग्लादेश के लिए अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं, इस भ्रष्टाचार रोधी संहिता के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में भी आरोपित किया गया है। जिन अन्य लोगों को निलंबित किया गया है जिसमे बैटिंग कोच अजहर ज़ैदी, UAE विभागी खिलाड़ी रिज़वान जावेद और सलिया सामन, और टीम प्रबंधक शादाब अहमद को भी निलंबित किया गया है।वास्तव में, इस टूर्नामेंट के लिए ICC ने ECB को डिज़ाइनेटेड एंटी-करप्शन ऑफिसर (DACO) के रूप में नियुक्त किया था, और उनकी ओर से इस बयान में आरोप लगाए गए हैं कि ICC के द्वारा जारी इस बयान में, संघवी को मैच के परिणामों को प्रभावित करने और अन्य चीजों में आरोपित किया गया है। बेटिंग के साथ ही, उनको जाँच में एजेंसी के साथ सहयोग नहीं करने के आरोप में भी आरोपित किया गया है। बैटिंग कोच सन्नी ढिल्लों को मैच को फिक्स करने का आरोप लगाया गया है। इसके अलावा, कृष्ण कुमार को DACO से तथ्यों को छिपाने के आरोप में आरोपित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here