Tuesday, February 27, 2024
Google search engine
Homeसाइबर क्राइमट्रेडिंग के नाम पर धोखाधड़ी करने वाली कंपनी BitDeepQuant फरार, बर्धमान में...

ट्रेडिंग के नाम पर धोखाधड़ी करने वाली कंपनी BitDeepQuant फरार, बर्धमान में पहली गिरफ़्तारी, एडमिन हिरासत में

ऑनलाइन ऐप्स में ट्रेडिंग के नाम पर धोखाधड़ी का एक बहुत बड़ा जाल बुना गया था जिसका की हाल ही में भंडाफोड़ हुआ है। निवेश के जरिए मोटी रकम कमाने का लालच देकर धोखाधड़ी करने के आरोप में वर्दमान पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में शहर के कलनागेट इलाके के भद्रपल्ली से एक युवक को गिरफ्तार किया है। ख़बरों के मुताबिक गिरफ्तार युवक का नाम सौमेन सोम उर्फ ​​रंजू है. सौमेन का घर शक्तिगढ़ के सद्द्या गांव में था लेकिन फिलहाल वह कलनागेट के भद्रपल्ली में रह रहा था.

आपको बता दें की सौमेन की गिरफ़्तारी हाल ही में भागी ट्रेडिंग के नाम पर सिग्नल देकर भोले भले लोगों को ठगने वाली कंपनी की धोखाधड़ी के सम्बन्ध में हुई है। सौमेन को बर्दवान शहर के खलुइबिलमथ इलाके के निवासी सुमित शर्मा की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया था. 8 सितंबर को सुमित ने ऐप के जरिए धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी. उसी शिकायत के आधार पर यह गिरफ्तारी की गई।

Pic Credit : EISAMAY
Pic Credit : EISAMAY

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शिकायत में सुमित शर्मा ने कहा कि 31 अगस्त को उन्होंने 6,000 रुपये देकर ‘बिट क्वांट डीप’ नाम से एक ऑनलाइन ऐप ज्वाइन किया था। आपको बता दें की इस ऐप में ज्वाइन करने के बाद उसे एक ग्रुप में ज्वाइन करवाया गया जिसका एडमिन सौमेन था। ग्रुप एडमिन द्वारा अलग अलग योजनाओ के तहत निवेश करने और अच्छे रिटर्न्स का प्रलोभन दिया गया और ग्रुप के सदस्यों से पैसे लगवाए। शुरुवात में सुमित को 30 हजार रुपये का लाभ भी हुआ लेकिन जैसे ही सुमित ने उस राशि को ऐप से निकलना चाहा तो कथित तौर पर सौमेन ने सुमित को जान से मरने की धमकी दी।

उसके बाद, सुमित शर्मा ने बर्दवान पुलिस स्टेशन से संपर्क किया और सभी तथ्यों की जानकारी दी। पुलिस ने जांच के बाद शनिवार को सौमेन सोम को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सिर्फ सुमित शर्मा ही नहीं बल्कि करीब 20 अन्य लोगों से भी इस ऑनलाइन ऐप के जरिए ठगी की गई है.

गिरफ्तार सौमेन को 7 दिन की पुलिस हिरासत के लिए आवेदन करने के बाद शनिवार को बर्दवान अदालत में ले जाया गया। पुलिस को शक है कि इसके पीछे कोई फ्रॉड गिरोह है। इसलिए पुलिस सौमेन को हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाहती है.

बर्दवान जिला पुलिस (बर्दवान पुलिस) की ओर से डीएसपी ट्रैफिक 2 राकेश कुमार चौधरी ने कहा, ‘बिटकॉइन में निवेश कर मोटी कमाई का लालच दिखाकर धोखाधड़ी का जाल बुना जाता है। एक व्यक्ति ने बर्दवान थाने में इसकी शिकायत की. राकेश सोम नाम के शख्स को कालना गेट स्थित उसके अड्डे से गिरफ्तार किया गया. आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. हमें शुरुआती जांच में पता चला है कि कुछ और लोगों के साथ धोखाधड़ी की गई है.’

क्या है “बिट डीप क्वांट”?
आपको बता दें की बिट डीप क्वांट के नाम से एक फ़र्ज़ी कंपनी पिछले 6 महीने से देश के अलग अलग हिस्सों में कार्यरत थी। इस एप में निवेशकों से शुरुवात में 6000 रुपये से 10 लाख तक का इन्वेस्टमेंट करवाया जाता था और ट्रेडिंग के नाम पर रोज़ाना 6 से 10 % का कमीशन दिया जाता था। कंपनी द्वारा बताया गया की उनके ग्रुप में 7 लाख से अधिक मेंबर्स जुड़े हुए हैं। निवेशकों से निवेश लेने के लिए अलग अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर लोगों को जोड़ा जाता था और वहां ग्रुप एडमिन हर शाम ट्रेडिंग सिग्नल देकर लोगों से निवेश करने के लिए प्रेरित करता था। ये भी बताया गया की इन सभी ग्रुप में भारतीय ग्रुप एडमिन के साथ ही कुछ विदेशी ग्रुप एडमिन भी सिग्नल देने का काम किया करते थे जिनके मोबाइल नंबर की शुरुआत +852 से होती है।

मल्टी लेवल मार्केटिंग और ट्रेडिंग के नाम पर मोटा मुनाफा कमाने का लालच देने के नाम पर इस फ़र्ज़ी कंपनी ने लाखों लोगों के साथ धोखाधड़ी की। शुरू से ही इस कंपनी का रजिस्ट्रेशन अमेरिका में होना बताया गया। न ही इस कंपनी का भारत में कोई ऑफिस है और न ही इनका कोई कर्मचारी भारत में कार्यरत है। इस पूरे फर्ज़ीवाड़े का संचालन अलग-अलग सोशल मीडिया ग्रुप्स और इन्फ्लुएंसर के माध्यम से किया जाता है बहुत से युवा यूट्यूब और टेलीग्राम के माध्यम से इस तरह के फ़र्ज़ी इन्वेस्टमेंट कम्पनीज को प्रमोट करके खुद तो मोटा मुनाफा कमाते हैं लेकिन लाखों में विक्टिम्स इसमें लाभ के लालच में अपनी मेहनत का पैसा गवा बैठते हैं।

इस पूरे फर्ज़ीवाड़े में पैसों का लेनदेन फ़र्ज़ी खातों से किया जाना बताया जा रहा है। हाल ही में कंपनी ने सभी निवेशकों के पैसों की निकासी यह कह कर रोक दी गयी की अब कंपनी SBI बैंक के साथ पेमेंट को लेकर कोई करार करने वाली है और निवेशकों को पैसों की निकासी 8th सितम्बर से की जाएगी। 8 सितम्बर को पैसे प्राप्त करने की आस में बैठे हुए लोगों को कंपनी ने एक और झटका तब दिया जब सभी निवेशकों को 6000 रुपये KYC के नाम पर जमा करने के लिए कहा गया साथ ही ये धमकी भी दी गई की अगर आप ये रकम जमा नहीं करवाते हैं तो कंपनी सभी निवेशकों के बैंक कहते फ्रीज करवा देगी। पैसे जमा करवाने की स्थिति में 11th सितम्बर से निकासी की प्रकिया शुरू करने का कंपनी के द्वारा आश्वासन दिया गया।

कंपनी द्वारा भेजे गए इस तरह के सन्देश के बाद लाखों की तादात में पीड़ित ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। कई निवेशकों ने लोन लेकर या रिश्तेदारों और दोस्तों से मांग कर ट्रेडिंग के नाम पर इस कंपनी में इन्वेस्टमेंट की थी जो की अब पूरी तरह से डूब चुकी है। आपको बता दें की कंपनी की गूगल प्ले स्टोर पर एप भी थी जिसका संचालन भी कंपनी ने बंद कर दिया है और कंपनी अब आखिरी में निवेशकों से और अधिक ठगी करने का अंतिम प्रयास कर रही है।

हम अपने पाठकों से ये आग्रह करते हैं की ऐसे किसी भी इन्वेस्टमेंट स्कीम में पैसे न लगाए जहाँ जरुरत से ज्यादा रिटर्न्स का दावा किया जाता हो वो भी बिना कुछ किये हुए ।

ऐसी ही और भी बहुत सी फ़र्ज़ी इन्वेस्टमेंट एप्स बाजार में अभी भी उपलब्ध हैं जो बिना किसी रजिस्ट्रेशन के देश में संचालन कर रही हैं और नाम बदल बदल कर भोले भले लोगों को मोठे मुनाफे के नाम पर अपने जाल में फसा लेती हैं और उनका लाखों में नुक्सान करती हैं। SUI Quant, Bit Deep Quant, FXTM, LUK, ACA, CRO, FTSE Russell, MTFE के नाम से ऐसी ही कुछ और फ़र्ज़ी इन्वेस्टमेंट स्कीम का संचालन अलग अलग ग्रुप्स और उनके एडमिन के माध्यम से किया जा रहा है |

RELATED ARTICLES

4 COMMENTS

  1. Sir meri helf kijiye please sir mere Ghar Wale aur ham bahut dukhi hai aur mujhe mere dost ne bahut badhiya app hai isme achhi incom hai ye bta kar hme is app ko chalu kar Diya sir meri helf kijiye sir ek nambar hamne pakda hai 9906658030 ye nambar true caller par aaya transaction me Mila hai

  2. My amount and my friends amount total 81000.00 loss. Pls recover the same.

    One of my friends daughter is blood cancer patient and other is in ICU critical. Kindly help

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments