सफलता की ओर एक और कदम ADITYA-L1,मिशन की चौथी प्रक्रिया कामयाब

0
45

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार सुबह सूरज का अध्ययन करने के लिए आदित्य एल1 मिशन की चौथी प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया। इस के ओरबिट को बढ़ाने का काम सुबह ISRO टेलीमेट्री, ट्रैकिंग और कमांड नेटवर्क (ISTRAC), बेंगलुरु में किया गया। ‘एक्स'(ट्वीटर) सोशल मीडिया नेटवर्क पर जारी किया गया बयान में, भारत का पहला सूरज का अध्ययन करने वाला अंतरिक्ष-आधारित मिशन, ADITYA-L1, ने सफलतापूर्वक अपना चौथा पृथ्वीगामी मनूवर सफलतापूर्वक पूरा किया है, इसरो ने ‘एक्स’ नेटवर्क पर पोस्ट किया।
इसमें जानकारी साझा कि और बताया चौथा मनूवर (EBNPT4) को सफलतापूर्वक कार्यान्वित किया गया है। इस कार्रवाई के दौरान ISRO के मॉरीशस, बेंगलुरु, SDSC-SHAR और पोर्ट ब्लेयर के ग्राउंड स्टेशन ने उपग्रह को ट्रैक किया, जबकि वर्तमान में फिजी द्वीपों में आदित्य-एल1 के लिए एक परिवहनीय टर्मिनल पोस्ट को डिप्लॉय किया जा रहा है, इस अंतरिक्ष एजेंसी ने ट्विटर पर लिखा। यह एक परिवहनीय टर्मिनल पोस्ट-बर्न संचालन का समर्थन करेगा।
नई ओर्बिट 256 किमी और 121973 किमी है। अगला मैन्यूवर, ट्रांस-लैग्रेजियन पॉइंट 1 इंसर्शन (TL1AI), जिसे पृथ्वी से प्रस्थान का संकेतिक समय सितंबर 19 को लगभग 2 बजे , के लिए निर्धारित किया गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने घोषणा की है कि भारत का पहला सूरज का अध्ययन करने वाला अंतरिक्ष-आधारित मिशन, आदित्य एल1, ने गुरुवार के शुरुआती घंटों में अपना चौथा पृथ्वीगामी मनूवर सफलतापूर्वक पूरा किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here