पाकिस्तान को लेकर कुलदीप यादव ने कह दी बड़ी बात, रिटायरमेंट को लेकर दिया बयान

0
20

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने कहा है कि उनकी गेंदबाजी में तकनीकी बदलाव और आक्रामक लय ने उनकी गेंदबाजी में सुधार किया है , जिसने भारत को एशिया कप सुपर फोर मैच में पाकिस्तान के खिलाफ जीत दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इस बाएं हाथ के स्पिनर ने इस साल भारत के लिए 27 वनडे विकेट्स लिए हैं। कुलदीप ने एशिया कप के सुपर-4 मैच में पाकिस्तान के खिलाफ पांच विकेट लिए थे।
कुलदीप ने कहा, “मेरे सर्जरी को 18 माह हो गए हैं। अब मेरा मेरा रन-अप सीधा हो गया है और मेरी गेंदबाजी गति में अधिक आक्रामकता आई है। पहले मेरा दाहिना हाथ गेंद फेंकते समय गिर जाता था, लेकिन अब यह नियंत्रित रहता है और बल्लेबाज के सामने होता है। इसके बावजूद, मैं अपना स्पिन और ड्रिफ्ट नहीं खोता हूँ और मेरी गति भी बढ़ गई है। इन सभी चीजों ने मेरी मदद की है। यदि एक लेग स्पिनर अच्छे गुड लेंथ पर गेंद फेंकता है, तो उसके विकेट लेने के अवसर बढ़ जाते हैं। यदि आप एक लेग स्पिनर हैं, तो आप कुछ खराब गेंदें भी फेंकेंगे, लेकिन इससे आपके विकेट लेने के अवसर भी मिलते है।
कुलदीप ने पाकिस्तान के खिलाफ भारत की रिकॉर्ड 228 रनों की जीत में अहम् योगदान दिया 25 रन दे के 5 विकेट लिए और पाकिस्तानी टीम को केवल 128 रनों पर आउट कर दिया। मैच के बाद, कुलदीप ने कहा कि एक्शन में बदलाव होने के बावजूद, वह अपनी फ्लाइट और ड्रिफ्ट खोना नहीं चाहते हैं और लेग ब्रेक्स और गूगली को मिलाकर बल्लेबाजों को परेशान करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “सर्जरी के बाद, मैंने क्रिकेट से लगभग पांच महीने तक दूर रहा। उस समय बहुत सारे लोगों ने मुझे बहुत सलाहें दी, लेकिन मेरे मन में एक बात पर दृढ़ कर राखी थी की मुझे अपनी ड्रिफ्ट नहीं खोना चाहिए।
पांच विकेट लेने के बाद, कुलदीप ने कहा, “जब मैं क्रिकेट से रिटायरमेंट,तो मैं अपने आप को याद दिलाऊंगा कि मैंने पाकिस्तान के खिलाफ पांच विकेट लिए थे। यह एक बड़ी उपलब्धि है क्योंकि वे स्पिन को अच्छे से खेलते हैं। अगर आप महाद्वीप में स्पिन को अच्छे से खेलने वाली टीम के खिलाफ अच्छा करते हैं, तो यह आपको प्रोत्साहित करता है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here