कोलंबो टेस्ट : भारत पारी व 53 रन से जीता, सीरीज में अजेय बढ़त

Colombo: Virat Kohli of celebrates fall of a wicket on Day 4 of the second test match between India and Sri Lanka at Sinhalese Sports Club Ground in Colombo, Sri Lanka on Aug 6, 2017. (Photo: Surjeet Yadav/IANS)

कोलंबो, 6 अगस्त| गेंद के साथ लगातार कमाल कर रहे रवींद्र जडेजा (5-152) के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने सिंहली स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को श्रीलंका को एक पारी और 53 रनों से हरा दिया। इसके साथ भारत ने तीन मैचों की सीरीज में अजेय बढ़त बना ली है। अपनी पहली पारी 183 रनों पर सिमटने के बाद फॉलोऑन को मजबूर मेजबान टीम दिमुथ करुणारत्ने (नाबाद 141) और कुशल मेंडिस (110) की शानदार शतकीय पारियों के बावजूद दूसरी पारी में 386 रनों पर ढेर हो गई। 

श्रीलंका की दूसरी पारी को समेटने में भारतीय खिलाड़ी रवींद्र जडेजा ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने सबसे अधिक 5 विकेट लिए। इसके अलावा, हार्दिक पांड्या ने दो और उमेश यादव तथा रविचंद्रन अश्विन ने एक-एक विकेट लिया। 

अपने तीसरे दिन के स्कोर दो विकेट पर 209 रनों से आगे खेलने उतरी मेजबान टीम ने रविवार को दिन के पहले सत्र में अपने दो विकेट खोकर कुल 302 रन बनाए थे। पहले सत्र में आउट होने वाले खिलाड़ी मेलिंडा पुष्पकुमारा (16) और दिनेश चांडीमल (2) थे।

पहले दिन की नाबाद जोड़ी करुणारत्ने और मेलिंडा पुष्पकुमारा (16) ने तीसरे विकेट के लिए 40 रनों की साझेदारी कर टीम का स्कोर 230 तक पहुंचाया था कि इसी स्कोर पर रविचंद्रन अश्विन ने पुष्पकुमारा को बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया। 

इसके बाद करुणारत्ने का साथ देने आए कप्तान दिनेश चांडीमल केवल दो रन ही बना पाए थे कि वह रवींद्र जड़ेजा की गेंद पर अजिंक्य रहाणे के हाथों लपके गए। चांडीमल के आउट होने के बाद मैथ्यूज ने करुणारत्ने के साथ टीम की पारी को संभाला और भोजनकाल तक बिना कोई विकेट गंवाए टीम का स्कोर 300 के पार पहुंचाया। 

दूसरे सत्र में टीम के खाते में आठ रन ही जुड़ पाए थे कि जडेजा ने श्रीलंका की आशावादी पारी संभाले हुए करुणारत्ने को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कर पांचवां विकेट गिराया। उनके आउट होने के साथ ही टीम बिखर गई। करुणारत्ने ने अपनी पारी में खेली गईं 307 गेंदों में 16 चौके लगाए।

इसके साथ ही वह यह उनका फॉलोऑन मिलने के बाद श्रीलंका के लिए बनाया गया दूसरे सबसे बड़ा स्कोर है। उन्होंने इससे पहले, दिसम्बर, 2014 में क्राइस्टचर्च में फॉलोऑन के बाद टीम के लिए 152 रनों की पारी खेली थी। 

पिछले तीन साल में उन्होंने तीन पारियों में चौथा शतक लगाया है। उनके अलावा किसी अन्य बल्लेबाज ऐसी स्थिति में दो से अधिक शतक नहीं लगाए हैं। 

करुणारत्ने के आउट होने के बाद टीम की पारी को आगे बढ़ाने वाले एंजेलो मैथ्यूज (36) और दिलरुवान परेरा जड़ेजा की गेंद पर विकेट के पीछे खड़े रिद्धिमान साहा के हाथों कैच आउट हो गए।

श्रीलंका की बिखरती पारी को संभालने आए धनंजय डी सिल्वा (17) और निरोशन डिकवेला (31) ने 22 रन जोड़कर टीम को 343 के स्कोर तक पहुंचाया, लेकिन जड़ेजा ने ही सिल्वा को रहाणे के हाथों कैच आउट कर घर भेजा। डिकवेला पांड्या की गेंद पर रहाणे के हाथों लपके गए। 

इसके बाद नुवान प्रदीप (1) को अश्विन ने शिखर धवन के हाथों कैच आउट कराने के साथ ही श्रीलंका की पारी को समेट दिया। 

जडेजा और अश्विन की जोड़ी तीसरी ऐसी हरफनमौला जोड़ी है, जिसने एक टेस्ट मैच में 50 से अधिक रन भी बनाए हैं और पांच विकेट भी लिए हैं। इस सूची में आस्ट्रेलिया के जॉर्ज गिफेन और ट्रोट की जोड़ी का नाम पहले स्थान पर है। 

उन्होंने ने 1895 में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में यह कारनाम किया था। इसके बाद दूसरे स्थान पर इंग्लैंड की टिम ब्रेसनेन और स्टुअर्ट ब्रॉड की जोड़ी है। उन्होंने भारत के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की थी। 

श्रीलंका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने वाले जडेजा को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया है। 

विराट कोहली ऐसे पहले कप्तान हैं, जिन्होंने श्रीलंका में दो सीरीज जीती है। भारत ने गॉल में खेले गए पहले टेस्ट मैच में मेजबान टीम को 304 रनों से हराया था।

तीसरा टेस्ट मैच पाल्लेकेले में 12 अगस्त से खेला जाएगा। इसके बाद दोनों टीमों के बीच पांच एकदिवसीय और एक टी-20 मैच खेले जाएंगे।

LEAVE A REPLY