कंगना रनौत पर रितिक रोशन ने तोडी अपनी चुप्पी, सोशल मीडिया पर लिखा पत्र

Image Credit: Twitter

मुंबई, अभिनेता रितिक रोशन और अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच लम्बे वक्त से चली आ रही जुबानी जंग थमने का नाम ही नही ले रही है, कंगना ने इंडिया टीवी पर दिए गए जोरदार इंटरव्यू के बाद मीडिया में हंगामा मचा दिया था और इसके बाद रितिक रोशन नें गहरी खामोशी पकड ली थी, अब काफी वक्त के बाद जाकर रितिक नें इस पूरे मामले पर अपनी चुप्पी तोडी है और उन्होने सोशल मीडिया पर लिए अपने एक पत्र के जरिए इन सभी आरोपों का जवाब देने की कोशिश की है.

अपने इस पत्र के जरिए रितिक ने अपने ऊपर लगाए जा रहे सभी आरोपो का बेहद बारिकी से जबाब दिया है, उन्होने इस पत्र में मोटे तौर पर कहा है कि वो फिल्म के अलावा कंगना से कभी व्यक्तिगत तौर पर नही मिले है, जो भी मुलाकात हुई है वो फिल्म के दौरान ही हुई है.

अपने पत्र में रितिक ने लिखा है कि, ये ही बात सच है और इस सच को समझिए. मै किसी भी तरह के अफेयर के आरोपो के खिलाफ लडाई नही लड रहा हूं या खुद को अच्छा बच्चा बताने के लिए नही लड रहा हूं. इंसान होने के नाते इंसान होने की गलतीयों को मै अच्छी तरह से जानता हूं. मुझे दुख इस बात का है कि मीडिया और बहुत ही कम लोगों है जो इस पूरे घटनाक्रम के पीछे की सच्चाई है यानि की मेरा पक्ष जानने में दिलचस्पी दिखा रहे है. रितिक इस पत्र में आगे लिखते है की वो पिछले चार सालों से इस लडाई को लड रहे है और अपनी बात समझाने की कोशिश कर रहे है, पर हमारे समाज में महिलाओं को प्रति एक तरह का पूर्वआग्राह है जिसके चलते वो अपनी बात नही समझा पा रहे है और खुद को काफी असहाय महसूस कर रहे है. गुस्सा नही हूं, गुस्से को पी चुका हूं, मैने अपने पूरे जीवन में किसी से लडाई-झगडा नही किया है और तलाक के वक्त भी झगडा नही किया, मेरे साथ रहने वाले सभी लोग काफी शांतिप्रिय हैं.

रितिक ने अपने इस पत्र में आगे लिखा है कि, “अगर लोग इसी बात पर संतुष्ट हैं कि उनकी दुनिया में एक लड़की ही पीड़ित है और आदमी आक्रामक ही है, तो ठीक है। मुझे कोई आपत्ति नहीं है। दुनिया भर में औरत प्रताड़ित होती है, आदमी निर्दयी होता जाता है और उसे सज़ा मिलनी ही चाहिए । लेकिन ये तब, जब एक औरत झूठी न हो और न आदमी कमजोर। अगर ऐसा नहीं है तो ठीक है। मुझे इसमें भी कोई दिक्कत नहीं।” 

रितिक ने आगे अपनी बात को रखते हुए कुछ दलिले पेश की है कि दो सेलेब्रेटी के बीच सात सालों तक चले इस रिश्ते की कोई तो तस्वीर को गवाह होना चाहिए, कंगना के पेरिस में जिस तथाकथित मुलाकात की बात मीडिया में कही है उसकी कोई फोटो तो होगी. 

रितिक कहते ही पेरिस में जिस मुलाकात की बात कंगना कर रही हैं उस साल यानि 2014 में वो हिंदूस्तान में ही थे और इस बात का सबूत मेरा पासपोर्ट देख कर लगाया जा सकता है, इस बात के सबूत के तौर में कंगना नो जो मीडिया में फोटो जारी किया था उसकी पोल तो अगले ही दिन मेरे दोस्तो और पूर्व पत्नी ने खोल कर रख दी थी.

पूरे मामले में दूध का दूध और पानी का पानी करने के लिए रितिक ने अपने लेपटाॅप और मोबाइल फोन का जांच के लिए साइबर सेल को सौप दिया है और इस बारे में जांच अभी चल रही हैं.

रितिक नें अपने इस पत्र में बार-बार इस बात पर काफी जोर दिया है कि लोग इस झगडे को दो पूर्व प्रेमीयों के झगडे के तौर पर ना देखें बल्कि सच्चाई को साफ तौर पर देखे, क्योकि सच को आंच नही आनी चाहिए, सच को आंच आएगी तो समाज का नुकसान होगा.

रितिक आगे लिखते है, “हमें भी औरतों का सम्मान करना सिखाया गया है। मेरे जीवन में भी एक महिला रही जो मेरी लाइफ में चट्टान की तरह स्पोर्ट सिस्टम बन कर रही। मैं अपने बच्चों को भी वैसे ही पारिवारिक संस्कार दूंगा और सिखाऊंगा कि हमेशा एक औरत के सम्मान के लिए खड़े रहो।”

अब कंगना की बहन ने भी रितिक के खिलाफ मोर्चा खोला है,और ट्वीट कर रितिक और कंगना की तस्वीर जारी की है, जिसमे रितिक कंगना को अपनी बाहों में लिए हुए है.

LEAVE A REPLY